ग्रामीण विकास विभाग मंत्री आलमगीर आलम ने चास हाट फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी के कार्यालय का उद्घाटन- सह- जुट बीज वितरण किया

0



पाकुड़-शनिवार को पुराना समाहरणालय परिसर में विकास पुरुष ग्रामीण विकास विभाग मंत्री श्री आलमगीर आलम के द्वारा चास हाट फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड कार्यालय का उद्घाटन-सह-परिसंपत्ति वितरण किया गया। विगत 20 फरवरी को राष्ट्रीय जूट महोत्सव के अवसर पर चास हाट फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड एवं जूट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के तहत किए गए समझौता के अनुसार शनिवार को 30 क्विंटल बीज माननीय मंत्री ने 40 गांव के किसानों के बीच वितरण किया। झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी के द्वारा जूट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के आई केयर परियोजना के अंतर्गत 40 गांव के एक-एक मास्टर ट्रेनर को दो दिवसीय प्रशिक्षण का प्रमाण पत्र वितरण किया एवं 674 सखी मंडलों को 3 करोड़ 37 लाख का समुदायिक निधि का चेक वितरण किया।

कार्यक्रम के दौरान उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए *ग्रामीण विकास विभाग मंत्री श्री आलमगीर आलम* ने कहा कि पाकुड़ सदर प्रखंड में जूट रोजगार से ज्यादा से ज़्यादा ग्रामीण एवं सखी मंडल को जुड़कर आत्मनिर्भर बनना है। सदर प्रखंड के 40 गांव से 5000 किसानों का ऑनलाइन पंजीकरण किया गया है तथा सभी किसानों को उन्नत नस्ल का बीज वितरण किया जाएगा जिससे कि ज्यादा से ज्यादा जूट का पैदावार हो। जूट से जुड़े किसानों को आत्मनिर्भर बनाने को लेकर राज्य सरकार के द्वारा सकारात्मक पहल किया जा रहा है और इसी के निमित्त पिछले दिनों राष्ट्रीय स्तर पर जुट महोत्सव का भी आयोजन जिला मुख्यालय में किया गया था और उस महोत्सव के दौरान जूट उत्पादन करने वाले किसानों ने इसका भरपूर लाभ उठाया था। उन्होंने कहा कि आज का समय वैज्ञानिक पद्धति से खेती करने का है और ऐसे में हमारे क्षेत्र के जूट से जुड़े किसान वैज्ञानिक पद्धति से खेती कर सके। इसको लेकर आने वाले समय में प्रशिक्षित किया जाएगा। माननीय मंत्री ने कहा कि किसानों को प्रशिक्षित करने से पूर्व जेएसएलपीएस के द्वारा दो दिवसीय मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण आयोजित किया गया ताकि मास्टर ट्रेनर किसानों को प्रशिक्षित कर सके और यहां के किसान वैज्ञानिक पद्धति से जूट की खेती कर सकें। किसानों को हर संभव मदद उपलब्ध कराने की दिशा में सकारात्मक पहल करते हुए आज किसानों को सब्सिडी पर पटसन का बीज उपलब्ध कराया जा रहा है।किसानों के साथ-साथ महिलाएं भी आत्मनिर्भर बन सके इसको लेकर उन्हें ऋण उपलब्ध कराए जा रहे हैं ताकि ऋण राशि से वे अपने लिए कोई रोजगार कर सकें। यहां के किसान इस अवसर का लाभ उठाएं और जूट की खेती कर आत्मनिर्भर बने।
मौके पर मौजूद उपायुक्त श्री वरुण रंजन ने कहा कि जिला प्रशासन किसानों को हर संभव मदद देने को तत्पर है और आने वाले दिनों में जूट से जुड़े किसानों को कई प्रकार के तकनीकी ज्ञान भी उपलब्ध कराए जाएंगे।
मंच का संचालन पाकुड़ सदर के बीपीएम फैज़ आलम ने की।
मौके पर उप विकास आयुक्त श्री शाहिद अख्तर, डीपीएम प्रवीण मिश्रा, प्रशिक्षक इसरार अहमद, कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री कुमार सरकार, कांग्रेस नेता अर्धेन्दु गांगुली सहित अन्य जेएसएलपीएस के कर्मी और कैडर उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here